Search Any topic , section , query

Monday, 2 December 2019

गांव से स्टार्ट होने वाले बिजनेस - Business idea for village

गांव से स्टार्ट होने वाले बिजनेस  जिन्हें आसानी से सप्लाई किया जा सकता है

Business from village  

Business idea for village

मैं गांव से हूं और मेरे पास बहुत कम आमदनी है पर , मैं ऐसा क्या काम करूं कि जिससे मेरा बिजनेस को शुरू हो जाए |

दोस्तों गांव से स्टार्ट होने वाले बिजनेस का यह पहला पाठ है कौन से कई सारे बिजनेस आसानी से स्टार्ट हो सकते हैं हालांकि कुछ बिजनेस में टीम और दोस्तों की जरूरत पड़ सकते हैं

दोस्तों कुछ छोटे बिजनेस जो आजकल छोटे गांव ए  कस्बा से  स्टार्ट करने के ज्यादा आसान तरीके हैं ,  क्योंकि उसमें आदमियों की जरूरत होती है साथ ही इंधन की जरूरत होती है  , साथ ही लगने वाली सामग्री भी आसानी से गांव में मिबल(available) हो जाती है |

जैसे कि इंधन में लकड़ियां और कंडे (गोबर के उपले ) आसानी से   मिल(available) हो जाते हैं |

इससे आप कुछ भी चीज बनाते हैं तो उसे आप सप्लायर (supplier) तक आराम से दे सकते हैं जिससे उसमें सप्लायर को भी कीमत अच्छी मिल सकती है और बेचने बनाने वाले को भी |


दोस्तों सप्लायर छोटे छोटे लोग होते हैं , जो साइक्लो से अथवा छोटी गाड़ियों से दुकानों में जा जाकर अपना सामान रखते हैं |





छोटे सप्लायर को बड़ी कंपनियों के सामान रख कर उनको मुनाफा नहीं निकलता ,  पर अगर आप उन्हें कुछ अच्छा बना कर दें जिससे आपको भी मुनाफा होगा और उनको भी तो वह उस काम को और बढ़ाएंगे |  ऐसे ही कुछ कामों के बारे में मैं आपको बताऊंगा जिनकी छोटे शहरों में बहुत डिमांड रहती है |

इसमें सबसे ज्यादा डिमांडिंग रहता है नमकीन जिसे आप सिर्फ कस्बों में नहीं बड़े मार्केट के सप्लायर तक में भी जा सकते हैं


पर आप शुरुआत कस्बों से ही करें

लेकिन नमकीन बनाने की कला होती है और कस्टमर कभी भी मिक्सर और सब नहीं चाहता |

कस्टमर नई तरीके , नई वैरायटी ढूंढता है अगर वह एक बार नई वैरायटी पसंद कर लेता है तो फिर वह उसी का आदी हो जाता है आपको इसमें बहुत ऑप्शन है बहुत तरीके हैं आप इसमें कुछ नया बना सकते हैं |


उदाहरण के लिए आप इन नमकीन  को देखे


यह कुछ ही वेराइटी हैं  , पर अगर आप इस वैरायटी (variety) की नमकीन बनाते हैं तो आपको आसानी से डिस्ट्रीब्यूटर मिल जाएंगे | पर आपको नमक अथवा तेल की क्वालिटी का बहुत ध्यान रखना होगा |

टेस्ट बहुत सही होना जरूरी होता है तभी डिमांड धीरे-धीरे करके बढ़ने लग जाती है | साथ ही ध्यान रहे शुरुआत में सिर्फ एक 5-10  किलो ही नमकीन बनाएं | और उसको डिस्ट्रीब्यूटर को देने की बजाय खुद आप दुकानों मैं जाएं और उनसे बात करें कि हमारी नमकीन को बेचना है  , उसके लिए वह आप नमकीन के एक निर्धारित मूल बताएंगे | जिससे आपको एक अनुमान (idea) लग जाएगा , जिससे आपको मार्केट का पहले से और अच्छा ज्यादा गहरा ज्ञान होगा |


छोटे और बड़े दुकानों  दोनों से बात करे |

और जो बाजार में पहले से मौजूद नमकीन हैं उनके बारे में पहले से ही जानकारी ले |
10 -  5 दुकानों में से जानकारी आपको आसानी से प्राप्त हो जाएगी |


ऊपर दी गई नमकीन अभी बाजार में ₹160 किलो के आसपास बिकती है वही होलसेल रेट में 110 रुपए किलो जाता है |

इस नमकीन छोटे शहरों में बहुत डिमांड रहती  है | अक्सर दशहरा में या होली में तो यह रातों में कई कुंटल की बिक्री हो जाती है | उसी से वह वह उस समय हर दुकान इसकी बिक्री करता है अगर आप चाहें तो सिर्फ इसे उसी सीजन में ही बेच सकते हैं उस सीजन में सप्लायर आपसे एक दिन यह 2 दिन पहले आपसे बहुत बल्क में नमकीन खा सकता है और आप खुद भी चाहे तुझको छोटा सा टेंट कहीं पर लगा क्या भेज सकते है

दूसरा तरीका यह है कि आप अपने आसपास के किसी गांव में किसी से इस क्वालिटी की नमकीन बनवाएं | आप पूरी जिम्मेदारी लें | मार्केट में जाने की और बेचने की ,  सप्लाई करने की |

जिससे बनाने वाले को नगद में पैसा मिलने से उसे काफी  प्रोत्साहन मिलेगा |






■□●■●□■■□■□■■■□■■■□■■□□■■□■

दूसरा आता है


पेठा जो जोकि आसानी से दुकानों से बिक सकता है साथी इसमें गांव में बनाने में ज्यादा आसानी होगी |

हालांकि यह देखा गया है कुछ क्षेत्र मैं पेठे का उत्पाद बहुत है या फिर वहां ऑलरेडी बहुत सप्लाई है और वाजिद दाम मे है |

पर  पेठा  में आप क्रिएटिविटी और टेस्ट  आसानी से ला सकते हैं - कलर रंग  , कुछ नए नए तरीके से उसको दिखाने के तरीके आदि से उसकी बिकने की क्षमता बढ़ जाती है |

इसे लोग एक दूसरे को गिफ्ट में  , नाश्ते में आदि कई जगह पर दे सकते हैं  | उसे बस आपको क्रिएटिविटी की जरूरत होगी  | आपसे इसे छोटे पैमाने से शुरुआत कर सकते हैं  |
इसे बनाना आसान है पर इंधन बहुत लगता है और टाइम भी इसलिए गांव से स्टार्ट करना बहुत आसान होगा |


दूसरा पेठे में लगने वाली सामग्री जैसे की पेठे का पेड़ (कुंडा) या चीनी या चुना आसानी से मिल जाता है इसलिए इसमें ज्यादा लागत नहीं है गांव में तो कुंडा बहुत आसानी से मिल जाता है आप दो से तीन कुंडे से भी इसको काम को शुरू कर सकते हैं |

जहां मार्केट में कितना भी हो पर अगर आप इसे बनाते हैं तो आप कभी बिकेगा |

आपको थोड़े थोड़े से कम क्वांटिटी में आपको बनाना होगा |

पेठा बनाना और नए डिजाइंस बनाना बहुत ही आसान है आप इसके लिए बहुत सी यूट्यूब वीडियो भी देख सकते है



आप पुराने तरीके से  ना बनाए | कुछ इसमें नए तरीके के डिजाइंस बनाएं |

इसे आप खुद शुरू में थोड़ा सा बेचने की कोशिश करें पर ज्यादातर इसके लिए आप डिस्ट्रीब्यूटर ही ढूंढे जो दुकानों में माल रखवा सके अथवा आपको दुकानों में जाकर बात करें |

मिठाई की दुकानों में तो यह अक्सर डिमांड में रहती है वहां आप आसानी से रख सकते हैं तथा किरणों की दुकानों में भी


सबसे बड़ी बात दोस्तों आजकल हर दुकानों में बड़ी कंपनियों के माल को बेचकर उनमें बहुत कंपटीशन हो गया है जिससे वह अपने आप को एक दूसरे से अलग नहीं कर पा रहे हैं इसलिए वह चाहते हैं कुछ नया माल आए उनके पास नए तरीके का जिससे वह बेच के अपनी दुकानदारी की कस्टमर को और आकर्षित कर सकें इसलिए आप विश्वास के साथ उनके पास जाएं और अपना माल दिखाएं साथी माल दिखाते समय आप पैकेजिंग का भी ध्यान रखें |


पैकेजिंग जो आसानी से आपके आसपास की  (होजरी की दुकानों) मे मिल जाएगी , तक़रीबन कीमत 5 से 10 के आसपास होती है |



आप चाहे तो कुछ दूध वालों को दूध बेचने वालों को आप इस तरह की एक दो डिब्बे दे सकते हैं ताकि वह अपने कस्टमर को दिखाएं या बताएं कि खरीदना है तो आप से मंगा सकते है |

●■□■□■□□■□□■●□■□●□□■□●□●□□●●


इसी तरह से गजक जोगी हरियाणा में काफी मशहूर है तथा लड भैया गुड़ के लाई के लड्डू जो आम उत्तर प्रदेश की छोटे से इलाकों में मशहूर है वह भी बना सकते हैं और दुकानों में दे सकते हैं वह ने बेच कर आपको सर कमीशन दे सकता





इसी तरह   इमली और कैथा का अचार गुड़ के साथ  जो कि बहुत ही टेस्टी होता है | वह बच्चों के सुबह नाश्ते में भी यूज हो सकता है और ऑफिस जाने वाले लोगों के लिए जायका हो सकता है खाने की साथ उसे आप आसानी से बना कर दुकानों में रखे






साथ ही बहुत से अन्य अचार जो कि अक्सर लोग खाते हैं आप उनको भी ट्राई कर सकते हैं

अगर आपको किसी भी तरह की दिक्कत या कोई आईडिया आपका क्लियर ना हो रहा हो या आपके पास कुछ हो बताने के लिए तो आप हमें मैसेज कर सकते हैं या कमेंट कर सकते हैं


जो भी आपके ऊपर बताया गया है इन सब को आप लंबे समय तक सप्लाई करवा सकते हैं और यही सबसे ज्यादा जरूरत होता है गांव से किसमें बिजनेस को शुरू होने के लिए |

तुरंत बना कर तुरंत सप्लाई होना यह संभव नहीं होता |




अगर आपका सामान दुकानों से नहीं बिकता तो आप दूधवाले अथवा ऐसे लोग जो लोगों के घर में कुछ जो कुछ सप्लाई करते रहते हैं उनसे आप उनकी मदद लें |

छोटे शहरों में सबसे अच्छा होता है कि वह दुकानदार जिस किताबों की कपड़ों की आधी जो चलाते हैं आप उनके पास जाएं वह यह सब खाना बहुत पसंद करते हैं वही आपकी कस्टमर हो सकते है |


दोस्तों आजकल हर किसी के पास मोबाइल है तो क्यों ना कस्टमर से डायरेक्ट अपनी बात को पहुंचाया जाए अपने प्रोडक्ट को पहुंचाया जाए उसके लिए करना कुछ नहीं होगा आपको वहां की कुछ कांटेक्ट नंबर किसी भी तरह से आपको निकालने होंगे और आपके लिए एक लिंक रेट कर दे सके जिसमें आपके प्रोडक्ट दिखेंगे आप उस लिंक को उन कस्टमर तक भेजें बस अपने आप वह आपको सर तक पहुंचाने लग जाएंगे इसमें हम आपकी मदद करेंगे आप हमें जरूर मैसेज करके पता है कोई चार्ज वगैरह नहीं लगेगा


No comments:

Post a Comment