Search Any topic , section , query

Monday, 31 August 2020

1992, the Ajmer Serial Gang Rape , अजमेर शरीफ चिश्ती दरगाह बलात्कार काण्ड

 अजमेर शरीफ चिश्ती दरगाह

 बलात्कार काण्ड - hidden history


अजमेर शरीफ चिश्ती दरगाह बलात्कार काण्ड
देश का सबसे बड़ा बलात्कार कांड का घिनोना सच 

जिसका कोर्ट ने फैसला अब सुनाया।
सन् 1992 लगभग 25 साल पहले सोफिया

 गर्ल्स स्कूल अजमेर की #लगभग_250_से_ज्यादा_

हिन्दू_लडकियों_का_रेप जिन्हें लव जिहाद/प्रेम जाल 

में फंसा कर, न केवल सामूहिक बलात्कार किया बल्कि 

एक लड़की का रेप कर उसकी फ्रेंड/भाभी/बहन आदि को 

लाने को कहा, एक पूरा रेप चेन सिस्टम बनाया, जिसमें

 पीड़ितों की न्यूड तस्वीरें लेकर उन्हें ब्लैकमेल करके

यौन शोषण किया जाता रहा !
#फारूक चिश्ती, #नफीस चिश्ती और #अनवर चिश्ती,

 इस बलात्कार रेपकांड के मुख्य आरोपी थे, 

तीनों अजमेर में स्थित ख्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती

 दरगाह के खादिम (केयरटेकर) के रिश्तेदार/वंशज 

तथा_कांग्रेस_यूथ_लीडर_भी ! फारूक चिश्ती

 ने सोफिया गर्ल्स स्कूल की 1 हिन्दू लड़की को 

प्रेमजाल में फंसा कर एक दिन फार्म हाउस पर

 ले जा कर सामूहिकबलात्कार करके, उसकी 

न्यूड तस्वीरें लीं और तस्वीरो से ब्लैकमेल कर 

उस लड़की की सहेलियों को भी लाने को कहा, 


एक के बाद एक लड़की के साथ पहले वाली लड़की

 की तरह फार्म हाउस पर ले जाना बलात्कार

 करना न्यूड तस्वीरें लेना, ब्लैकमेल कर उसकी

 भी बहन/सहेलियों को फार्म हाउस परलाने को

 कहना और उन लड़कियों के साथ भी यही 

घृणित कृत्य करना इस चेन सिस्टम में लगभग

 250 से ज्यादा लडकियों के साथ भी वही

 शर्मनाक कृत्य किया !


उस जमाने में आज की तरह डिजिटल कैमरे नही थे। 

रील वाले थे। रील धुलने जिस स्टूडियो में गयी वह 

भी चिश्ती के दोस्त और मुसलमानसमुदाय का ही था।

 उसने भी एक्स्ट्रा कॉपी निकाल लड़कियों का शोषण

 किया। ये भी कहा जाता है कि स्कूल की इन लड़कियों

 के साथ रेप करने में नेता, सरकारी अधिकारी भी 

शामिल थे ! आगे चलकर ब्लैकमैलिंग में और भी

 लोग जुड़ते गये । आखिरी में कुल 18 ब्लैकमेलर्स हो

 गये। बलात्कार करनेवाले इनसे तीन गुने। इन लोगों

 में लैब के मालिक के साथ-साथ नेगटिव से फोटोज डेवेलप

 करने वाला टेकनिशियन भी था । यह ब्लैकमेलर्स स्वयं 

तो बलात्कार करते ही, अपने नजदीकी अन्य लोगों को

 भी "ओब्लाइज" करते


इसका खुलासा हुआ तो हंगामा हो गया । इसे भारत का 

अब तक का सबसे बडा सेक्स स्कैंडलमाना गया ।

 इस केस ने बड़ी-बड़ी कोंट्रोवर्सीज की आग को हवा दी ।

 जो भी लड़ने के लिए आगे आता, उसे धमका कर बैठा 

दिया जाता । अधिकारियों ने , कम्युनल टेंशन न हो जाये,

  इसका हवाला दे कर आरोपियों को बचाया। अजमेर शरीफ 

दरगाह के खादिम(केयरटेकर) चिश्ती परिवार का खौफ 

इतना था, जिन लड़कियोंकी फोटोज खींची गई थीं, उनमें 

से कईयों ने सुसाइड कर लिया । एक समय अंतराल 

में 6-7 लड़कियां  ने आत्महत्या की । न सोसाइटी 

आगे आ रही थी, न उनके परिवार वाले। उस समय

 की 'मोमबत्ती गैंग' भी लड़कियों की बजाय आरोपियों

को सपोर्ट कर रही थी । डिप्रेस्ड होकर इन लड़कियों ने

 आत्महत्या जैसा कदम उठाया । एक ही स्कूल की 

लड़कियों का एक साथ सुसाइड करना अजीब सा था।


सब लड़कियां नाबालिग और 10वी, 12वी में पढने वाली 

मासूम किशोरियां । आश्चर्य की बात यह कि रेप की गई 

लड़कियों में आईएएस, आईपीएस की बेटियां भी थीं। 

ये सब किया गया अश्लील फोटो खींच कर। पहले एक लड़की,

 फिर दूसरी और ऐसेद्वारा लूटी जा रही थी तब वे कहाँ थे ?

 किसकी मन्नत पूरी कर रहे थे ? ख्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती

 की दरगाह पर मन्नतें मांगने वालों को विचार करना चाहिए

 कि कहीं वे वहां जा कर पाप तो नहीं कर रहे ?



और भी hidden history के लिए Ynot App को जरूर डाउनलोड करे


Ynot App  ऐप में आपको और भी topics मिलेंगे


https://play.google.com/store/apps/details?id=com.exam.exampractice

No comments:

Post a comment